जनजातीय किसानों को ईएसएल द्वारा कृषि पद्धतियों आदि के लाभों के बारे में जानकारी दी गई

किसान दिवस पर जनजातीय किसानों को ईएसएल स्टील लिमिटेड की वाडी परियोजना के तहत कृषि पद्धतियों और लिंग समावेशन के लाभों के बारे में जानकारी दी गई…

– वाडी परियोजना अंतर्गत ईएसएलस्टील लिमिटेड नाबार्ड के सहयोग से, आदिवासी और महिला किसानों को कृषि और लिंग समावेशन को लागू करने में सहयोग करती है
– ग्रामीण सेवा संघ के साथ साझेदारी में ईएसएल स्टील लिमिटेड के प्रोजेक्ट वाडी ने बोकारो जिले में चास और चंदनकियारी ब्लॉक के 8 गांवों में 500 आदिवासी किसान परिवारों बनाया कृषि के छेत्र में सजग और आत्मनिर्भर
– देश के किसानों के सम्मान में भारत में 23 दिसंबर को राष्ट्रीय किसान दिवस मनाया जाता है

बोकारो; 24 दिसंबर, 2023. वेदांता कंपनी और भारत में अग्रणी एकीकृत इस्पात उत्पादक ईएसएल स्टील लिमिटेड ने सामाजिक और सामुदायिक विकास के प्रति प्रतिबद्ध है। विभिन्न राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय सरकारी निकायों और गैर सरकारी संगठनों से कई पुरस्कारों और सम्मानों से सम्मानित, ईएसएल स्टील लिमिटेड समाज के सभी वर्गों की उत्थान प्राथमिकता देता है। इस जिम्मेवारी को निर्वाह करते हुए ईएसएल स्टील लिमिटेड ने वाडी प्रोजेक्ट को नाबार्ड के सहयोग से और ग्रामीण सेवा संघ के साझा प्रयास से राष्ट्रीय किसान दिवस के अवसर पर एक सत्र का आयोजन किया। जहां आदिवासी किसानों को विभिन्न लाभों के बारे में जानकारी दी गई।

प्रोजेक्ट वाडी, ईएसएल स्टील लिमिटेड प्रायरोरिटी लिस्ट की कृषि परियोजना है , जिसे नाबार्ड के सहयोग से कार्यान्वित किया जा रहा है। ईएसएल स्टील लिमिटेड का सीएसआर विभाग कार्यान्वयन एजेंसी ग्रामीण सेवा संघ के साथ साझेदारी में प्रोजेक्ट वाडी की देखरेख और सूक्ष्म प्रबंधन करता है। इस परियोजना का उद्देश्य आदिवासी और महिला किसानों को उनकी खेती में कृषि और लिंग समावेशन को लागू करने में मदद करना है। जिससे बोकारो जिले के चास और चंदनकियारी ब्लॉक के 8 गांवों में 500 से अधिक आदिवासी किसान परिवार लाभान्वित होंगे।

ईएसएल स्टील लिमिटेड के सीएसआर, ईआर और पीआर प्रमुख आशीष रंजन ने किसान दिवस के अवसर पर ईएसएल स्टील लिमिटेड के वाडी प्रोजेक्ट के बारे में कहा कि इस योजना से हमारे आसपास के गांवों में स्थानीय आदिवासी और महिला किसानों को लाभ पहुंचेगा। वे कृषि के छेत्र में और जागरूक होंगे व आत्मनिर्भर होंगे । वेदांता के द्वारा लाए गए योजनाओं से उनको स्थायी आजीविका मिलेगी।

प्रोजेक्ट वाडी के द्वारा 500 आदिवासी किसान परिवार सशक्त बनाने और बंजर भूमि खेती योग्य भूमि में परिवर्तित होगा। जिससे फसलें उगेंगी और छेत्र और लोगों में समृद्धि आयेगी। इस पहल के माध्यम से, अपने सहयोगी एनजीओ, ग्रामीण सेवा संघ के बीच आशा के बीज बोते हैं। जिससे इन परिवारों के लिए आय और उज्जवल भविष्य दोनों सुनिश्चित होते हैं।

सत्र के बाद आदिवासी किसानों ने ईएसएल के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा कि आदिवासी हमेशा मिट्टी, पानी, पेड़ों और पर्यावरण के सच्चे मित्र रहे हैं। सभी ने योजना के तहत कृषि में मदद करने के लिए ईएसएल स्टील लिमिटेड की सीएसआर टीम, नाबार्ड और ग्रामीण सेवा संघ को धन्यवाद दिया।

प्रोजेक्ट वाडी के बारे मेंः-
ईएसएल स्टील लिमिटेड की वाडी परियोजना नाबार्ड के सहयोग से है। यह योजना छोटे विकास पर केंद्रित है। जिसका उद्देश्य फलों के बगीचे , पानी के माध्यम से भूमिहीन आदिवासी किसानों के लिए अंतःखेती, सूक्ष्म उद्यम के साथ संसाधन विकास एवं विकास सिंचाई कुशल प्रौद्योगिकियों को बढ़ावा देना है। वाडी जनजातीय परिवारों की आजीविका संबंधी समस्याओं का समाधान करने में सहायक सिद्ध होगा। हमारे सहयोगी एनजीओ ग्रामीण सेवा संघ के साथ इस परियोजना का लक्ष्य 500 आदिवासी परिवारों की मदद करना है। जिसमें चास के 8 गांवों और बोकारो जिले के चंदनकियारी ब्लॉक के भागाबांध, चास के पारटांड, हुतु पाथेर और कुँवरपुर और आसनसोल, तेंतुलिया, नेपुर चौक और पश्चिम महल शामिल हैं।
वाडी योजना ऐसे आदिवासी परिवारों के लिए है जो गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहे हैं और उनके पास पर्याप्त साधन नहीं हैं। इनके आजीविका, और इसे बढ़ाने के लिए उनके घरों के आसपास और उनकी भूमि पर एक बगीचा विकसित किया जाएगा जिससे इनके पारिवारिक आय में वृद्धि होगी और ये सुखी संपन्न होंगे।

वेदांता ईएसएल स्टील लिमिटेड के बारे मेंः-
झारखंड के बोकारो जिले के सियालजोरी गांव में स्थित, ईएसएल स्टील लिमिटेड स्टील का एक अग्रणी निर्माता उत्पादक है। इसमें 2.5 मिलियन टन प्रति वर्ष (एमटीपीए) ग्रीनफील्ड एकीकृत इस्पात संयंत्र है जो पिग आयरन का उत्पादन करता है, जिसमें टीएमटी बार, वायर रॉड्स और डक्टाइल आयरन पाइप शामिल है। । प्लांट निर्धारित पर्यावरण के अनुरूप कार्य करता है।

नाबार्ड के बारे मेंः-
वाडी परियोजना एक नाबार्ड वित्त पोषित जनजातीय विकास कार्यक्रम है जिसका उद्देश्य विकास को बढ़ावा देना है। जनजातीय समुदायों के लिए आजीविका और उनकी आय सुरक्षा बढ़ाना।

ग्रामीण सेवा संघ के बारे मेंः-
ग्रामीण सेवा संघ वाडी परियोजना में ईएसएल स्टील लिमिटेड का कार्यान्वयन भागीदार है । यह एक गैर-लाभकारी संगठन है जिसकी स्थापना 2007 में हुई थी। यह संगठन मुख्य रूप से कृषि, लिंग, ऊर्जा और कृषि के क्षेत्र में काम करता है।

ईएसएल स्टील लिमिटेड की वाडी परियोजना नाबार्ड के सहयोग से है और छोटे विकास पर केंद्रित है। जिसमें फलों के बगीचे , पानी के माध्यम से भूमिहीन आदिवासी किसानों के लिए अंतःखेती, सूक्ष्म उद्यम के साथ संसाधन विकास एवं विकास सिंचाई कुशल प्रौद्योगिकियों को बढ़ावा देना शामिल है। वाडी जनजातीय परिवारों की आजीविका संबंधी समस्याओं का समाधान करने के लिए सरकार की योजना है। नाबार्ड इसकी नोडल एजेंसी है।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *