चार वर्षीय मासूम की हत्या में शामिल तीन अपराधियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

◆सम्पत्ति विवाद में गोतिया ने की थी मासूम बच्चे की निर्मम हत्या

KODARMA (कोडरमा)। जिले की पुलिस ने मरकच्चो थाना क्षेत्र के मूर्कमनायटांड़ में 15 अक्टूबर को चार वर्षीय बच्चे की हत्या का उद्भेदन कर लिया है। वहीं पुलिस ने इस हत्याकांड में शामिल तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

 

गिरफ्तार आरोपियों में सुरेशनाथ गोस्वामी (पिता हरखूनाथ गोस्वामी), रूमा देवी (पति सुरेशनाथ गोस्वामी) व दिलीप कुमार गोस्वामी (पिता सुरेशनाथ गोस्वामी) तीनों मूर्कमनायटांड़ निवासी शामिल हैं. कोडरमा एसपी अनुदिप सिंह ने गुरुवार को प्रेसवार्ता कर उक्त जानकारी दी.एसपी ने बताया कि आरोपियों की निशानदेही पर मृत बच्चा का दूध से भरा बोतल और एक जोड़ा सैंडल बरामद किया गया है.

 

एसपी ने बताया कि बच्चे की हत्या आरोपियों ने उसके परिवार से पुराना संपत्ति विवाद होने की वजह से की थी. पूरे घटनाक्रम की जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि मामले को लेकर मूर्कमनायटांड़ निवासी इंद्रदेव नाथ गोस्वामी (पिता हरखूनाथ गोस्वामी) के द्वारा मरकच्चो थाना में (कांड संख्या 97/23) अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कराया गया था. इसमें चार वर्षीय शिव कुमार गोस्वामी का अपहरण कर हत्या करने का आरोप लगाया गया था.

 

घटना के बाद मामले की जांच को लेकर प्रशिक्षु डीएसपी दीवाकर कुमार के नेतृत्व में विशेष टीम का गठन किया गया था. टीम में शामिल पुलिस पदाधिकारियों ने अनुसंधान कर आरोपियों को गिरफ्तार किया. गिरफ्तार आरोपियों ने इस हत्याकांड में अपनी संलिप्तता स्वीकार करते हुए बताया कि इन्द्रदेव नाथ और उनके बीच संपत्ति को लेकर पूर्व से विवाद चला आ रहा था.

 

आपसी विवाद के कारण आरोपियों के द्वारा घटना को अंजाम दिया गया. यहां सबसे अधिक चौकाने बात यह है मृतक मासूम बच्चे का पिता इन्द्रदेव नाथ गोस्वामी और पकड़े गए आरोपी सुरेशनाथ गोस्वामी दोनों भाई हैं, जबकि महिला आरोपी रूमा देवी आरोपी की पत्नी और दिलीप कुमार गोस्वामी पुत्र है.

इकलौता पुत्र था चार वर्षीय मासूम शिव

 

मुरकमनाई पंचायत अंतर्गत मुरकमनाईटांड़ से 14 अक्टूबर की दोपहर से चार वर्षीय शिव कुमार गोस्वामी (पिता राहुल गोस्वामी) गायब था. अगले दिन उसका शव गांव के ही धुंधी आहर के उत्तरी छोर से मिला था. बच्चा स्थानीय नोबल पब्लिक स्कूल में पढ़ता था.

 

शनिवार 14 अक्टूबर की दोपहर वह स्कूल से लौटा था. बच्चे के दादा ने उसे दूध का बोतल दिया था, जिसे वो पीते हुए बाहर निकल गया था. बच्चे की मां आंगनबाड़ी में सहायिका है. जब वह आंगनबाड़ी से लौटी तो अपने बच्चे को घर में न देख ढूंढ़ने लगी. मृतक अपने माता-पिता का इकलौता पुत्र था. मृतक का पिता मुंबई में काम करता है और एक दिन पहले ही अपने घर लौटा था. पुलिस ने बालक का शव बरामद होने के बाद जांच के लिए डॉग स्क्वॉयड की टीम भी बुलाई थी। प्रेसवार्ता में पुलिस निरीक्षक सुजित कुमार, राम नारायण ठाकुर, थाना प्रभारी लव कुमार एवं उत्तम कुमार वैद्य मौजूद थे.

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *