बराकर नदी बस हादसे में मृत लोगों के परिजनों को मुख्यमंत्री राहत कोष से मिला मुआवजा

GIRIDIH (गिरिडीह)। बराकर नदी बस हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों को मुख्यमंत्री राहत कोष से 3-3 लाख का चेक दिया। इसके पूर्व उक्त बस हादसे में चारों मृतक के परिजनों को राज्य सरकार के आपदा राहत कोष से एक-एक लाख का चेक दिया गया था।

 

 

बता दें कि बीते 5 अगस्त की शाम रांची से गिरिडीह आ रही बाबा सम्राट नामक बस गिरिडीह- डुमरी मुख्य पथ स्थित बराकर नदी पुल पर असंतुलित हो लगभग 30 फीट नीचे बराकर नदी में गिर गयी थी। घटना में चार लोगों की जान चली गयी थी। जिनमे राजेन्द्र नगर बरवाडीह निवासी अजय कुमार सिन्हा के छोटे पुत्र सौरभ कुमार अम्बष्टा, जिला कृषि कार्यालय में संविदा पर कार्यरत कम्यूटर ऑपरेटर सन्तोष गुप्ता, छुट्टी बाजार निवासी संवेदक मानिक चंद साव एवं उक्त दुर्घटनाग्रस्त बाबा सम्राट आलीशान बस संख्या जेएच 07 एच 2906 का हजारीबाग निवासी खलासी अनिल उर्फ धनिया शामिल थे।

 

 

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार उक्त घटना चालक की लापरवाही का परिणाम था। क्योंकि बस का चालक काफी तेज गति से बस को चला रहा था। बस पर सवार यात्रियों ने उसे कई बार धीरे चलाने की बातें कही। लेकिन चालक सबों की बात को अनसुना कर वाहन चलता रहा था। बराकर पुल पहुंचते ही बस की तेज स्पीड के कारण वाहन पर से चालक ने संतुलन खो दिया और पुल से नीचे नदी में जा गिरी थी।

 

घटना के वक्त येन मौके पर बाबाधाम देवघर से जल चढ़ा कर रजरप्पा पूजा करने जा रहे बिहार के कांवरियों ने अपना वाहन रुकवा कर सबसे पहले नदी में कूद कर राहत व बचाव कार्य शुरू किया। वहीं कांवरिया को बचाव कार्य मे जुटा देख स्थानीय होटल के मालिक व कर्मी और ग्रामीण भी बचाव कार्य मे जुट गये। नतीजतन घटना में घटना स्थल पर एक भी व्यक्ति की मौत नहीं हुई थी। हालांकि काफी यात्री गम्भीर रूप से घायल हो गये थे।

 

 

घटना की सूचना पर पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी समेत काफी संख्या में भाजपा के वरिष्ठ नेतागण, सदर विधायक सुदिव्य कुमार सोनू के साथ डीसी-एसपी के साथ कई राजनीतिक दल के नेताओं और कार्यकर्ताओं घटना स्थल पहुंचे थे और राहत व बचाव कार्य मे जुट गये। कड़ी मेहनत के बाद सभी को बस से बाहर निकाल कर शहर के विभिन्न अस्पतालों में इलाज हेतु भर्ती कराया गया था। जहां इलाज के क्रम में चार लोगों की मौत हो गयी थी।

 

घटना के बाद मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष से जिला प्रशासन द्वारा सभी मृतकों के परिजनों को एक एक लाख की मुआवजा राशि दी गयी थी। वहीं मंगलवार को मुख्यमंत्री राहत कोष से सभी मृतकों के परिजनों को 3-3 लाख की मुआवजा राशि सदर विधायक के हाथों दिया गया। मौके पर काफी संख्या में झामुमो कार्यकर्ता एवं मृतक के परिजन मौजूद थे।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *