5 करोड़ लूटकांड का मास्टरमाइंड खिरोधर साहू गिफ्तार, 77 लाख रुपये बरामद

◆जमुआ थाना क्षेत्र के बाटी मोड़ के पास तीन माह पूर्व डीवाई कंपनी के कर्मी से हुई थी लूट

 

GIRIDIH (गिरिडीह)। जिले के जमुआ थाना क्षेत्र के बाटी मोड़ के समीप तीन माह पूर्व हुए पांच करोड़ लूट कांड में गिरिडीह पुलिस ने एक बार फिर बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने बीते 21 जून की रात हुई उस बड़ी रकम पांच करोड़ रुपये की लूट मामले के मास्टरमाइंड खिरोधर साहू उर्फ गुलाब साहू और इसके साथी मुन्ना रविदास को कन्याकुमारी से गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार मास्टरमाइंड खिरोधर साहू हजारीबाग जिले के बरही का रहने वाला है। उसके पास से पुलिस ने 77 लाख रुपये और एक स्कॉर्पियो को भी जब्त करने में सफल रही है। उक्त जानकारी एसपी दीपक कुमार शर्मा ने गुरुवार को प्रेसवार्ता कर दी।

उन्होंने बताया कि गुजरात की डीवाई कंपनी के कर्मी से इतनी मोटी रकम की लूटकांड को खिरोधर साहू उर्फ गुलाब साहू ने अपने गिरोह में सदस्यों के साथ मिलकर अंजाम दिया था। घटना को अंजाम देने के बाद वह अपने घर बरही भी गया था, लेकिन चार दिनों बाद पुलिस की सक्रियता देख वह स्कार्पियो से फरार हो गया था और बिहार में कहीं छिपकर रह रहा था। एसपी ने बताया कि उसे पकड़ने के लिए पुलिस की टीम लगातार कई राज्यों में छापामारी कर रही थी। इसके बाद यह सफलता हासिल हुई है। बुधवार की रात मिली इस सफलता के दूसरे दिन गुरुवार को एसपी दीपक कुमार शर्मा ने प्रेसवार्ता कर पूरे मामले की जानकारी दी। मौके पर एसडीपीओ नौशाद आलम, एसडीपीओ मुकेश महतो, साइबर डीएसपी संदीप सुमन और डीएसपी संजय राणा मौजूद थे।

 

क्या है मामला

बीते 20-21 जून की रात जमुआ थाना क्षेत्र के बाटीमोड़ के पास अपराधियों ने डीवाई कंपनी के कर्मियों से 5 करोड़ रुपए लूट लिए थे। कंपनी के कर्मी रुपये लेकर क्रेटा कार पर सवार होकर पटना से कोलकाता जा रहे थे। कार के अंडरग्राउंड सेफ में 5-5 सौ की गड्डियां भरी हुई थीं। क्रेटा कार के चालक मयुर सिंह जडेजा ने 21 जून को जमुआ थाना में आवेदन देकर घटना की प्राथमिकी दर्ज करायी थी। चालक ने पुलिस को दिए गए बयान में कहा था कि 20 जून की रात को वह अपने सहयोगी जगत सिंह जडेजा के साथ रात करीब 9 बजे पटना की डीवाई कंपनी के मैनेजर भरत सिंह सोलंकी के निर्देश पर पांच करोड़ रुपये लेकर कोलकाता के लिए निकला था। रास्ते में गिरिडीह जिले के बाटी के पास स्कार्पियो व एसयूवी वाहन पर सवार अपराधियों ने क्रेटा वाहन को ओवरटेक कर रोकवाया और चालक व उसके सहयोगी को कब्जे में लेकर सेफ में रखे पांच करोड़ रुपए लूट कर फरार हो गए।

3.24 करोड़ रुपए के साथ 6 आरोपी पूर्व में हो चुके हैं गिरफ्तार

गौरतलब है कि गिरिडीह पुलिस इस लूटकांड में शामिल 6 आरोपियों को अलग-अलग स्थानों से पहले ही ही गिरफ्तार कर चुकी है। उनके पास से लूटे गए 5 करोड़ में से 3,24,15,000 रुपए भी बरामद किए गए थे। इसके साथ ही उनके पास से आठ मोबाइल फोन, एसयूवी वाहन और क्रेटा कार में लगाये गये एक जीपीएस को भी पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया था। पहले गिरफ्तार आरोपियों में राजेश सिंह, मो. करीम अंसारी, विनोद विश्वकर्मा, शहजाद आलम (सभी धनबाद जिले के गोविंदपुर के रहने), रंजीत कुमार (बरही) और अजीत कुमार सिंह चतरा जिले के इटखोरी का) शामिल हैं। जबकि लूटकांड का मास्टरमाइंड गुलाब साह फरार चल रहा था।

क्रेटा कार में चिप प्लांट कर जीपीएस से कर रहे थे निगरानी

पहले पकड़े गए अराधियों ने पुलिस को बताया था कि लूटकांड को अंजाम देने के लिए घटना से करीब डेढ़ माह साजिश रची गयी थी, उस वक्त गिरोह के सदस्यों ने सेल टैक्स का अधिकारी बनकर बरही में डीवाई कंपनी के कर्मियों से सात लाख रुपये की वसूली की थी। उसी समय इन्हें पता चला था कि कंपनी की मोटी रकम उक्त क्रेटा कार से ढोई जाती है, इसलिए उनलोगों ने चुपके से कार में चिप प्लांट कर दिया. इसके बाद जीपीएस के माध्यम से कार की निगरानी कर रहे थे।

 

सम्मानित किये गये लूटकांड का उद्भेदन करने करने वाले पुलिस पदाधिकारी व कर्मी

 

पुलिस ने 5 करोड़ रूपये लूट मामले में बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए कांड का उद्दभेदन करते हुए मास्टरमाइंड समेत 8 आरोपियों को सलाखों के पीछे पहुंचा दिया है। वहीं लूटे गए रकम में लगभग सवा 4 करोड़ रूपये भी बरामद कर लिया हैं। गुरुवार को अयोजित प्रेसवार्ता में एसपी दीपक कुमार शर्मा ने टीम में शामिल सभी पुलिस पदाधिकारियों का उत्साहवर्धन करते हुए प्रशस्ति पत्र देकर व नगद राशि देकर सम्मानित किया। कहा कि ऐसे ही अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते रहे ।

 सम्मानित होने वाले पुलिस पदाधिकारी व कर्मी

एसपी श्री शर्मा ने एसआइटी का नेतृत्व कर रहे खोरीमहुआ अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी मुकेश कुमार महतो, बगोदर सरिया अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी नौशाद आलम, पुलिस उपाधीक्षक साईबर क्राईम संदीप सुमन, जमुआ थाना प्रभारी बिपिन कुमार, धनवार थाना प्रभारी पिकु प्रसाद, पुलिस अवर निरीक्षक धनवार थाना सत्यदीप कुमार, राहुल चौबे, गांवा थाना, अभिमन्यु परीहारी, तिसरी थाना, आरक्षी, जोधन महतो, तकनिकी शाखा,आरक्षी राजेश गोप, पिताम्बर पाण्डेय, सन्नी कुमार, राजेश कुमार, अंगरक्षक हवलदार अखिलेश कुमार भानु, आरक्षी साकेत कुमार, चालक हवलदार टुनटुन कुमार साह, नरेश हजाम, रिजर्व गार्ड धनवार थाना, हवलदार नगीना पासवान, रिजर्व गार्ड धनवार थाना, हवलदार आसीन अंसारी, रिजर्व गार्ड धनवार थाना, आरक्षी राधेश्याम लकड़ा, हवलदार बसन्त सिंह सरदार, आरक्षी मंगरा उराँव, मुकेश भगत, अंगरक्षक, मो० नसीम, नेहाल अख्तर को सम्मानित किया।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *