चिन्मय विद्यालय ने 44 मेधावी विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति देकर किया पुरस्कृत

 
चिन्मय स्माइल बैंक की पहल मानवता की सच्ची सेवा ः डीईओ
 
बोकारो ः चिन्मय विद्यालय, बोकारो में चिन्मय स्माइल बैक संस्था द्वारा आयोजित प्रतिभा पोषण छात्रवृत्ति वितरण 2024 कार्यक्रम मंगलवार को संपन्न हुआ। यह कार्यक्रम कमजोर वर्ग के मेधावी छात्र-छात्राओं के लिए आयोजित किया गया था। जिला स्तरीय परीक्षा के माध्यम से 44 छात्र छात्राओं का चयन किया गया, जिन्हें आज मुख्य अतिथि स्वामिनी संयुक्तानंद सरस्वती और विशिष्ट अतिथि जिला शिक्षा पदाधिकारी जगन्नाथ लोहरा ने प्रमाणपत्र एवं चेक देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम का शुभारंभ वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ गणमान्य अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया। 
कार्यक्रम में अतिथियों का स्वागत करते हुए संजीव मिश्रा ने कहा कि परम पूज्य गुरुदेव स्वामी चिन्मयानंद महाराज का कहना था कि शिक्षा ही समाज में व्याप्त सभी प्रकार के अंधकार को दूर कर सकता है। इसलिए 2009 में वंचित वर्ग के मेधावी छात्रों की सहायता के लिए चिन्मय स्माइल बैंक की स्थापना की गई। इसके माध्यम से इस वर्ष प्रतिभा पोषण कार्यक्रम के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र के मेधावी छात्रों की सहायता का लिया गया, जिसके प्रथम चरण में 600 बच्चों की परीक्षा के माध्यम से उपस्थिति दर्ज हुई थी, जिसमें 106 बच्चे दूसरे चरण में साक्षात्कार के लिए चयनित हुए और अंततोगत्वा 44 मेधावी छात्रों का चयन किया गया, जिन्हें आज उन्हें पुरस्कृत किया जा रहा है। पुरस्कार की कुल राशि 2,68,400 है।
 
जीवन मूल्यों से कभी समझौता न करें विद्यार्थी ः संयुक्तानंद
इस अवसर पर मुख्य अतिथि स्वामी संयुक्तानंद सरस्वती ने अपने आशीर्वचन में कहा कि आप सभी बच्चों में असीम आशा देख रही हूं। आप सभी प्रतिभावान एवं परिश्रमी हैं, आप सभी आगे बढ़ें। परंतु ध्यान रहे, कभी भी जीवन मूल्यों से समझौता न करें। उच्च गुणों से युक्त सामर्थ्यवान बनें। स्वयं आगे बढ़ें और दूसरों की भी बढ़कर मदद करें।
प्रतिभा पोषण एक अनूठा पहल है इससे दूर दराज के क्षेत्र में भी छात्रों में पढ़ाई के प्रति अभिरुचि उत्पन्न होगी। 
विशिष्ट अतिथि जिला शिक्षा पदाधिकारी जगन्नाथ लोहरा ने छात्रवृत्ति वितरण के बाद अपने संबोधन में कहा कि चिन्मय स्माइल बैंक की यह अनूठी पहल वास्तव में मानवता की सच्ची सेवा है। इसका दूरगामी प्रभाव झारखंड के दूर दराज के क्षेत्र में पड़ेगा और अधिक से अधिक छात्र पढ़ाई के प्रति जागरूक होंगे। कार्यक्रम में 44 छात्र-छात्राओं को पुरस्कार राशि चेक के माध्यम से दी गई। कार्यक्रम में चिन्मय विद्यालय के अध्यक्ष बिश्वरूप मुखोपाध्याय, सचिव महेश त्रिपाठी, कोषाध्यक्ष आर एन मल्लिक, प्राचार्य सूरज शर्मा, उप प्राचार्य नरमेंद्र कुमार, संजीव कुमार मिश्रा, संयोजक चिन्मय एलुमनी संघ, शशांक झा संस्थापक सदस्य, शैबाल गुप्ता एवं स्मृति शामिल थे। संचालन सुनील कुमार तथा धन्यवाद ज्ञापन रितेश तिवारी ने किया। कार्यक्रम का समापन चिन्मय विद्यालय गीत से किया गया, जिसमें विद्यालय के संगीत विभाग के जय किशन राठौड़, रूपक झा, दिनेश कुमार के साथ-साथ स्टूडेंट्स कॉउन्सिल के सदस्य उपस्थित थे।
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *