सऊदी अरब में फंसे झारखण्ड के 5 प्रवासी मजदूर, सरकार से लगाई वतन वापसी की गुहार

GIRIDIH (गिरिडीह)। झारखण्ड के गिरिडीह, हजारीबाग और बोकारो जिले के 5 प्रवासी मजदूरों ने सऊदी अरब में फंसे हैं। कंपनी की ओर से उन्हें पिछले आठ महीने का वेतन नहीं दिया गया है। जिस कारण वे मजदूर दाने-दाने के लिए मोहताज हैं। इतना ही नहीं उन मजदूरो के बीजा की अवधि भी समाप्त हो गयी है, उन्हे अकामा भी नही दिया गया है।

उन मजदूरों ने सोशल मीडिया के माध्यम से भारत सरकार और झारखंड सरकार से वतन वापसी की गुहार लगाई है। वही उनके परिजनों ने भी केंद्र और राज्य सरकार से उनकी सुरक्षित घर वापसी कराने की मांग की हैं।

सऊदी अरब में फंसे मजदूरों में

 

सऊदी अरब में फंसे मजदूरों में गिरिडीह जिले के सरिया प्रखंड के कुसमाडीह पंचायत के जगदीश महतो, बोकारो जिले के पेंक नारायणपुर थाना क्षेत्र के पेंक पंचायत के जिवलाल महतो और विनोद महतो एवं हजारीबाग जिले के बिष्णुगढ थाना क्षेत्र के चानो पंचायत के चिंतामन महतो और विरेन्द्र महतो शामिल हैं।

मार्च 2023 में गये थे सऊदी अरब

 

बताया गया कि ये सभी मजदूर पिछले 28 मार्च 2023 को अल मुरब्बा अल हादी की कंपनी में ट्रांसमिशन के ओपीजी में काम करने के लिए सऊदी अरब गये थे। लेकिन पिछले आठ महीने से किसी भी मजदूर को वेतन नहीं मिला हैं। जिसकी वजह से सभी मजदूर खाने के लिए मोहताज हो गये हैं।

विदेशों में पूर्व में भी फंसे है झारखण्ड के मजदूर

 

मजदूरों के हित में कार्य करनेवाले सिकन्दर अली ने केंद्र व राज्य सरकार से सऊदी अरब में फंसे मजदूरों को मदद करने की अपील की है। उन्होंन कहा कि काम की तलाश में मजदूर विदेश जाते हैं,वहां उनको यातनाएं झेलनी पड़ती हैं। पूर्व में भी कई ऐसे मामले सामने आए हैं। ऐसे में सरकार को इस पर ठोस कदम उठाने की जरूरत हैं।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *