शारदा कन्या मध्य विद्यालय में मनाया गया भारत की पहली महिला शिक्षिका सावित्रीबाई फुले का जन्मदिन

GIRIDIH (गिरिडीह। शारदा कन्या मध्य विद्यालय पचंबा में भारत के प्रथम महिला शिक्षिका सावित्रीबाई फुले का जन्मदिन मनाया गया। इस दौरान उनके तस्वीर पर माल्यार्पण कर पिरामल फाउंडेशन के समन्वयक चंद्रसिंग पाडवी ने सावित्रीबाई फुले के जीवन पर प्रकाश डाला।

 

उन्होंने कहा कि सावित्रीबाई फुले भारत की पहली महिला शिक्षकों थी। जिन्होंने भारत में महिलाओं के अधिकारों को बेहतर बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्हें भारत के नारीवादी आंदोलन की अग्रणी माना जाता है। उन्होंने समाज सुधारक और कवयित्री ज्योतिबा फुले के साथ जाति और लिंग के आधार पर लोगों के साथ भेदभाव और अनुचित व्यवहार को खत्म करने का प्रयास किया। वह और उनके पति भारत में महिला शिक्षा के अग्रदूत थे। उन्होंने लड़कियों के लिए अपना पहला स्कूल 1848 में पुणे में तात्या साहेब भिडे के निवास स्थान भिडेवाड़ा में शुरू किया था।

 

मौके पर प्रधानाध्यापक अशोक कुमार मिश्र ने कहा कि बालिकाओं के शिक्षा के लिए हमारे प्रेरणास्रोत रही सावित्रीबाई फुले को उनके जन्मदिन पर हम सभी नमन करते हैं। उनके द्वारा किए गए कार्यों को स्मरण कर आगे बढ़ाने का संकल्प लें।

 

कार्यक्रम के दौरान विधालय की शिक्षिका तनु प्रिया,स्वीटी कुमारी, सुनीता गुप्ता, माया मरियम हांसदा,पुनम कुमारी, अध्यक्ष सरिता देवी,बाल संसद के अर्चना कुमारी, खुशी कुमारी, बर्षा कुमारी, साहिल आदि ने उन्हें नमन कर उनके तस्वीर पर पुष्प अर्पित किया।।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *