गिरिडीह के बाल विवाह एक्टिविस्ट चांदनी मरांडी को राज्यपाल ने किया सम्मानित

◆रांची के होटल रेडिसन ब्लू में अयोजित राज्यस्तरीय कार्यक्रम में सम्मानित हुई चाँदनी मरांडी

 

GIRIDIH (गिरिडीह)। सपनो की उड़ान राज्य स्तरीय सेमिनार में महामहिम राज्यपाल सी पी राधकृष्णन ने बनवासी विकास आश्रम गिरिडीह से जुड़ी समुदायिक कार्यकर्ता चांदनी मरांडी को सम्मानित किया।

 

बाल सरंक्षण आयोग झारखण्ड तथा बाल कल्याण संघ, रांची द्वारा बाल तस्करी एवं असुरक्षित पलायन पर राज्य स्तरीय सेमिनार का आयोजन रांची के होटल रेडिसन ब्लू किया गया, जिसमें झारखंड के राज्यपाल माननीय सी.पी राधाकृष्णन मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे।

कार्यक्रम के दौरान पीरटांड़, गिरिडीह की बाल विवाह की पीड़िता एवं बाल विवाह मुक्त भारत अभियान के सामुदायिक कार्यकर्ता चांदनी मरांडी को राज्यपाल द्वारा चेंजमेकर अवार्ड देकर सम्मानित किया गया।

चांदनी मरांडी फिलहाल बनवासी विकास आश्रम में सीएसडल्यु के पद पर कार्यरत हैं और पीरटांड़ प्रखंड में बाल संरक्षण के मुद्दे , बाल विवाह, बाल मजदूरी,बाल तस्करी एवं बाल यौन शौषण पर काम कर रहीं हैं। श्रीमती मरांडी अबतक 10,000 से ज्यादा लोगों को बाल विवाह के खिलाफ शपथ दिलाई हैं। वह 2 बच्चियों को बाल विवाह से बचाई है।

इस दौरान राज्यपाल ने कहा कि प्रत्येक बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा एवं आजादी मिलनी चाहिए। बाल तस्करी की सुचना मिलने पर तुरंत अपने नजदीकी थाने को सुचित करें। हम सबको मिलकर बाल तस्करी के रैकेट को तोड़ना होगा। इसके लिए सदैव राजभवन आपके साथ है।
चाँदनी मरांडी खुद बाल विवाह पीड़िता रह चुकी है, जिन्होंने न सिर्फ समाज में स्थान बनाया है बल्कि शिक्षा के क्षेत्र में एक मुकाम हासिल कर मास्टर डिग्री हासिल किया है।

चांदनी मरांडी को राज्यपाल द्वारा सम्मानित करने पर बाल विवाह मुक्त भारत निर्माण पर कार्य कर रही संस्था झारखंड ग्रामीण विकास ट्रस्ट धनबाद के प्रो0 शंकर रवानी, सहयोगिनी बोकारो के गौतम सागर, जन सेवा परिषद, हजारीबाग के आर के आनंद , बनवासी विकाश आश्रम गिरिडीह के सचिव सुरेश कुमार शक्ति ने बधाई दी है।

 

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *