झारखंड में नदियों की तेज धार में बहे पांच बच्चे, तीन के शव बरामद

◆करम डाली विसर्जन के दौरान धनबाद और हजारीबाग में हुआ हादसा, मचा कोहराम

 

RANCHI (रांची)।  प्रकृति पर्व करमा पूजा के बाद मंगलवार सुबह नदी में करम डाली विसर्जन करने के दौरान झारखंड के धनबाद और हजारीबाग जिले में बड़ा हादसा घटित हुआ है। लोक पर्व करम पूजा के विसर्जन के दौरान हुए इस हादसे में पांच बच्चे नदी की तेज धार में बह गए। इनमें से तीन बच्चों के शव बरामद कर लिए गया हैं, जबकि दो बच्चों का अब तक कुछ पता नहीं चल पाया है।

जानकारी के अनुसार धनबाद जिले के बाघमारा थाना क्षेत्र की जमुनिया नदी में करम डाली विसर्जन के दौरान पांच बच्चे नहाने के लिए नदी में उतरे और गहरी धार में चले गए। नदी में अत्यधिक पानी रहने के कारण पांचो बच्चे बहने लगे। नदी के आसपास मौजूद लोगों की उन पर नजर पड़ी। लोगों ने बड़ी मशक्कत के बाद सभी पांचों को नदी से बाहर निकाला और बीसीसीएल के क्षेत्रीय अस्पताल ले गये। जहां डॉक्टरों ने दो बच्चे सलोनी कुमारी (14 वर्ष) और देवराज कुमार (10 वर्ष) को मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद पूरे इलाके में कोहराम मच गया। मृतक बच्चों के परिजनों के चीत्कार से पुरा अस्पताल परिसर गमगीन हो गया। घटना की सूचना मिलते ही बाघमारा विधायक दुल्लू महतो मौके पर पहुंचे। उन्होंने मृतक बच्चों के परिजनों से मिलकर उन्हें सांत्वना दिया और हर संभव सहयोग का आश्वासन दिया।

 

 

दूसरी घटना हजारीबाग जिले के चौपारण थाना क्षेत्र के ओबरा गांव में घटित हुई। यहां भी मंगलवार अहले सुबह करीब 10 बच्चियां बराकर नदी में करम डाली विसर्जित करने गई थीं। इस दौरान नदी की तेज धार में सभी बहने लगीं। इनमें से सात को किसी तरह बाहर निकाल लिया गया, लेकिन तीन अन्य बह गईं। सूचना मिलते ही आसपास के ग्रामीण नदी के समीप पहुंचे और स्थानीय गोताखोरों से मदद ली। काफी मशक्कत के बाद गोताखोरों लापता हुई तीन बच्चियों में से एक बच्ची का शव निकाल लिया है। दो अन्य की तलाश जारी है। इन घटनाओं से इलाके में कोहराम मचा है। नदी के पास सैकड़ों लोग इकट्ठा हों गये है। लापता दोनों बच्चों की तलाश में स्थानीय गोताखोर जूटे है।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *