राष्ट्रीय कायस्थवृन्द के कार्यकारणी सदस्य रहे अधिवक्ता जयंत सहाय का निधन

◆शोक संतप्त है कायस्थ समाज, मर्माहत है अधिवक्ता संघ
जयंत सहाय का फाइल फोटो

Giridih : कायस्थों की अग्रणी संस्था राष्ट्रीय कायस्थवृन्द के कार्यकारिणी सदस्य रहे अधिवक्ता जयंत सहाय का आज सुबह पटना के एक अस्पताल में इलाज के दौरान निधन हो गया। उनके निधन की खबर गिरिडीह पहुंचते ही जहां पूरा कायस्थ समाज शोक संतप्त है। वहीं जिला अधिवक्ता संघ भी मर्माहत है।

लगभग 62 वर्षीय अधिवक्ता जयंत सहाय काफी मृदुभाषी और मिलनसार स्वभाव के व्यक्ति थे। उन्होंने अपने पीछे पत्नी और दो पुत्री छोड़ गये हैं। उनकी दोनों पुत्रियां शादीसुदा हैं। छोटी पुत्री की शादी उन्होंने पिछले वर्ष ही रांची में किया था।

जानकारी के अनुसार वे पिछले दो दिनों से अस्वस्थ थे। परिजन उन्हें गिरिडीह में इलाज के बाद बेहतर इलाज हेतु पटना ले गए थे। जहां इलाज के क्रम में आज सुबह लगभग 5 बजे उनका निधन हो गया।

उनके इस आकस्मिक निधन पर राष्ट्रीय कायस्थवृन्द, अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के अलावे जिले के अधिवक्ताओं ने गहरी शोक संवेदना व्यक्त किया और दिवंगत आत्मा की शांति एवं शोक संतप्त परिवार को यह आकस्मिक दुःख सहने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना किया।

उनके इस आकस्मिक निधन पर शोक व्यक्त करने वालों में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष त्रिपुरारी प्रसाद बक्सी, जिलाध्यक्ष एम के वर्मा, जिला महासचिव संजीव सिन्हा के अलावे राजेश सहाय, शिवेन्द्र कुमार सिन्हा, संजीव रंजन सिन्हा, राजेश कुमार, उत्तम लाला, नित्यानन्द प्रसाद, विकास सिन्हा, विशाल गौरव, अभय सिन्हा, माले नेता राजेश सिन्हा, जिला अधिवक्ता संघ के उपाध्यक्ष अजय सिन्हा मंटु, महासचिव चुन्नूकांत, अधिवक्ता जयंत प्रसाद, अधिवक्ता शालिनी सिन्हा, संजीत वर्मा, रंजय बर्डियार, उमा प्रसाद, बबलू सिन्हा, मुरारी मोहन, भाजपा के शशि सिन्हा, अमर कुमार सिन्हा, राज कुमार आदि के अलावे समाज से जुड़े कई लोग शामिल थे।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *